सीबीएसई सम्बधता संख्या:

(मानव संसाधन विकास मंत्रालय ,भारत सरकार)

समय :

दिनांक: 23-03-2019

नागरिक चार्टर

 

हमारे चार्टर
जवाहर नवोदय विद्यालय ग्रामीण क्षेत्रों में जो उद्देश्य से बच्चों के लिए मुख्य रूप से सह शिक्षा आवासीय विद्यालयहैं:
  • ग्रामीण क्षेत्रों से प्रतिभावान बच्चों को अच्छी शिक्षा ,सांस्कृतिक मूल्य ,नैतिक उपदेश, पर्यावरण के रखरखाव एवं बचाव हेतु जागरूकता,शारीरिक शिक्षा के बारे में आदिकालिक सहित आधुनिक शिक्षा प्रदान करने के लिए नवोदय विद्यालय में छात्रो को  कक्षा छठी में प्रवेश दिया जाता है और बारहवीं कक्षा तक शिक्षा प्रदान की जाती है. अब कक्षा नौवीं और ग्यारहवीं में भी छात्रों के पार्श्व प्रवेश  के लिए प्रावधान कर दिया गया  हैं.
  • नवोदय विद्यालय के सभी छात्रों को तीन भाषाओं में दक्षता का एक उचित स्तर को पाने के लिए के तीन भाषा सूत्र में परिकल्पना की गई है और इसके उद्देश्य को सुनिश्चित करना विधालय का संकल्प हैं
  • प्रत्येक जिले में शिक्षा के केंद्र बिन्दु के रूप स्थापित हो कर शिक्षा की गुणवत्ता में अपने अनुभव और सुविधाओं के माध्यम से सुधार करना
हमारे मिशन.
  • हमने मुख्य रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में उज्ज्वल और प्रतिभाशाली बच्चों की पहचान एवं समुचित विकास करने की परिकल्पना की हैं .  ऐसे होनहार बच्चे जो अच्छी शिक्षा के अवसर से वंचित रह जाते हैं .
  • अपने मिशन को उचित स्वरुप देने के लिए उच्च गुणवत्ता की शिक्षा के साथ-साथ प्रभावी शैक्षणिक पाठयक्रम ,साहसिक गतिविधियों की उचित क्रियान्वन , शारीरिक शिक्षा एवं तीन भाषाओं में बच्चों की दक्षता के उचित स्तर को पाना हैं.
  • हमारा उद्देश्य है  की संबंधित जिले के शैक्षिणिक केंद्र बिंदु के रूप में स्थानीय समुदाय के साथ लगातार संपर्क करके उनसे  साझा अनुभव प्राप्त करें और अपनी उत्कृष्ट सुविधाओं से लेस इन संस्थानों को अकादमिक उत्कृष्टता के केंद्रों के रूप में विकसित करें
 हमारा परिचय
  • नवोदय विद्यालय समिति सोसायटी अधिनियम, 1860 के तहत पंजीकरण एक पंजीकृत सोसायटी है. सोसायटी स्कूल शिक्षा और साक्षरता, मानव संसाधन विकास, भारत सरकार के मंत्रालय के विभाग के अधीन एक स्वायत्त निकाय है. भारत के मानव संसाधन विकास के माननीय मंत्रीजी  अध्यक्ष एवं मानव संसाधन विकास (शिक्षा राज्य मंत्री ) माननीय मंत्रीजी नवोदय विद्यालय समिति के उपाध्यक्ष है.
  • जिला स्तर पर जवाहर नवोदय विद्यालय प्रबंधन समिति के अधीन,जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में कार्य कर रहे हैं,यह व्यवस्था देश के भाग लेने वाले समस्त राज्यों और संघ राज्य क्षेत्रों में लागू हैं.
हम क्या करते हैं
  • नवोदय विधालय केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) से संबद्ध हैं
  • हम बच्चों नि: शुल्क शिक्षा आवास बोर्डिंग सहित वर्दी, पाठ्य पुस्तकें, स्टेशनरी आदि मुहैया कराते है.हालांकि कक्षा नवी से बारहवीं के छात्रों से नवोदय विकास निधि के लिए रू200/- प्रति माह का एक मामूली रुपये शुल्क लगाया जाता हैं.परंतु अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति वर्गों, लड़कियों, विकलांग और गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों के बच्चों से संबंधित छात्रों के शुल्क के भुगतान से छूट है.
  • सीटें के आरक्षण का प्रतिशत-ग्रामीण कम से कम 75%, शहरी 25 अत्यंत%.
  • लड़कियों के लिए सीटों के आरक्षण का प्रावधान-33%
  • कक्षा छठी से बारहवीं तक पूरी तरह से आवासीय सह शिक्षा विधालय स्थापित करना और चलाना.
  • सभी छात्रों के लिए मुफ्त में चिकित्सा और स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करना
  • जनक शिक्षक परिषद की व्यवस्था करना  और उनके लिए आवधिक बैठकें आयोजित करना
  • ंबंधित जिले में सीबीएसई द्वारा आयोजित वस्तुनिष्ठ परीक्षण डिजाइन के माध्यम से ही कक्षा छठी में प्रवेश प्रदान करें. हाँलाकि कक्षा नौवीं और ग्यारहवीं स्तर के छात्रों के पार्श्व प्रवेश के लिए भी प्रावधान है.
  • एक भाषाई क्षेत्र में स्थित एक विद्यालय में कक्षा नवी के 30% छात्रों को एक अकादमिक वर्ष के लिए एक अलग भाषाई विविधता के विधालय में भेजा जाता है ताकि विभिन्न संस्कृति और भाषीय छेत्रो के छात्रों के बीच आपसी सौहार्द,भाईचारा,समझ,एकता और एक दुसरे की संस्कृति के प्रति निष्ठा फैले और राष्ट्रीय एकता ,संप्रभुता और अखण्डता को बल मिले
  • कम्प्यूटर साक्षरता और कम्प्यूटर एडेड शिक्षा कार्यक्रम की व्यवस्था करना
  • पने छात्रों के लिए राष्ट्रीय एकता सम्मेलन की व्यवस्था करना ताकि आपस में मिलने से  नवोदय बिरादरी में आपसी समझ एवं सौहार्दपूर्ण माहौल तैयार हो सके.
क्या उद्देश्य हैं
  • बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करना
  • सह पाठयक्रम गतिविधियों की विविधता के माध्यम एवं सामंजस्यपूर्ण तरीके से बच्चों के व्यक्तित्व का समुचित विकास करना.
  • एक ऐसे वातावरण का निर्माण करना जिससे शिक्षकों और छात्रोकी प्रतिभा और काबिलियत निखर के सामने आये,.
  • बेहतरीन आधुनिक शिक्षा तकनीक अपनाने, बाह्य और आंतरिक जवाबदेही स्थापित करने एवं स्थानीय समुदाय के साथ संबंधों को सुमधुर करने के लिए वचनबद्ध.
  • शिक्षा के क्षेत्र में कला को समयोजित कर प्रसिद्ध पारंपरिक कलाकारों की मदद के साथ परंपरागत कौशल और कला शिक्षा के माध्यम से छात्रों को राष्ट्रवादी मूल्यों से लैस करने  के लिए अवसर प्रदान करना
  • शैक्षिक मूल्यों की खोज में अन्तर्निर्मित आत्मनिर्भरता, आत्म मूल्यांकन, चरित्र, आदि को आनुशासन की कठोरता से स्वतः स्वरूप देना.
  • ्रयोग और नवाचार की स्वतंत्रता.